Thursday, 27 April 2017

इस ट्रिक से फैट फ्री राइस पकाएं नहीं बढ़ेगा वजन


कई महिलाएं चावल खाना बहुत ज्यादा पसंद करती हैं। लेकिन उसे नहीं खाती हैं क्योंकि चावल में काफी मात्रा में कैलोरी पायी जाती है जो कि वजन बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं



  • 1

    चावल बनाने के एक ट्रिक

    कई महिलाएं चावल खाना बहुत ज्यादा पसंद करती हैं। लेकिन उसे नहीं खाती हैं क्योंकि चावल में काफी मात्रा में कैलोरी पायी जाती है जो कि वजन बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। यही कारण है कि ख्वाहिश होते हुए भी महिलाएं चावल से खासा दूरी बनाए रखती हैं। लेकिन अगर आपको पता चले कि चावल बनाने के एक ट्रिक से आप उसमें मौजूद कैलोरी को लगभग आधा कर सकती हैं, तो क्या आप भरोसा करेंगी? असल में ऐसा है। आपकी कटोरी में इस ट्रिक से बनाकर रखी गई चावल की कैलोरी लगभग 60 फीसदी तक कम हो जाएगी। शोधकर्ताओं ने इस बात की पुष्टि अमेरिकन केमिकल सोसाइटी‘स नेशनल मीटिंग में की है।
  • 2
  • तरीकासवाल है कि किस तरह चावल को पकाया जाए ताकि कैलोरी में गिरावट आ सके? शोधकर्ताओं के मुताबिक इसके लिए किसी लैब में जाने की जरूरत नहीं है। आपको आधी कटोरी नान-फोर्टिफाइड सफेद चावल लें, उसमें एक चम्मच नारियल तेल मिलाएं। इसके बाद इसे उबले पानी में डाल दें। इसके बाद इस उबले पानी में चावल को करीब 40 मिनट तक पकाएं। पक जाने के बाद पके चावल को 12 घंटों के लिए रेफ्रिजरेटर में रख दें। अंततः इसे निकालकर चाहें तो ठंडा या फिर दोबारा हल्का गर्म करें इस चावल का मजा लें।
  • 3

    कैसे हुई कैलोरी कम

    यह जानना दिलचस्प है कि इस तरह पकाए गए चावल में कैलोरी की किस तरह कमी होती है? शोधकर्ता बताते हैं कि दरअसल इस तरह पकाए गए चावल को जब ठंडा किया जाता है, इसमें ग्लूकोज मोलिक्यूल्स टाइट बांड्स बनाते हैं जिसे रेसिस्टेंट स्टार्च कहा जाता है। मतलब यह कि इस तरह के चावल खाने से हमारा डाइजेस्टिव सिस्टम इसे पूरी तरह अब्जोर्ब नहीं करता यानी सभी कैलोरी को ग्रहण नहीं करता। कुल मिलाक यह हुआ कि इसमें मौजूद तत्वों को हमारा शरीर स्वीकार नहीं करता। इस तरह यह चावल हमारे स्वास्थ्य के लिए लाभकारी साबित हो जाते हैं।
  • 4

    नारियल तेल की भूमिका

    इस तरह पकाए गए चावल में नारियल तेल का महत्वपूर्ण रोल है। दरअसल नारियल तेल में मीडियम-चेन फैटी एसिड होता है। यह अन्य फैटी पदार्थ की तुलना में बेहतर होते हैं मसलन मक्खन, घी आदि।
  • 5

    कितना लाभकारी

    यह तरीका सामान्य तरीकों से चावल बनाने से 10 गुणा ज्यादा हेल्पफुल है। इस तरीके से आपके शरीर में 60 फीसदी कैलोरी कम कर सकती हैं। शोधकर्ताओं की टीम ने यह भी पाया है कि यदि इस पके हुए चावल को यदि दोबारा गर्म किया जाए तो भी इससे इसकी कैलोरी संख्या में इजाफा नहीं होगा।
  • शुगर और मोटापे के लिए बन सकता है काल ये पत्ता.


    काफी लोग इस उपयोग से9 लाभान्वित हो रहे हैं ! आप भी इसको उपयोग कर के इसका स्वास्थय लाभ ले सकते हैं. यह पौधा “अकबन,आक, आकड़ा, मदार है. इसके पत्ते के इस्तेमाल से आप सिर्फ 7 दिन से 3 महीने के भीतर शुगर से मुक्त हो सकते हैं और मोटापे से भी मुक्त हो सकते हैं. कई लोगों को तो इसका रिजल्ट सातवें दिन ही मिल जाता है. ऐसा बेहतरीन है ये तो आइये जाने इसके पत्ते का प्रयोग.


    इस पौधे की पत्ती को उल्टा (उल्टा का मतलब पत्ते का खुदरा भाग) कर के पैर के तलवे से सटा कर मोजा पहन लें ! सुबह और पूरा दिन लगा रहने दे रात में सोते समय निकाल दें और थोड़ी देर पैर को हवा लगने दें फिर दोबारा दूसरा पत्ता बाँध लीजिये. एक सप्ताह में ही आपका “शुगर” लेवल सामान्य् हो सकता है और हाँ इससे आपका बाहर निकला पेट भी कम हो सकता है. ये पेड़ हर जगह मिलता है और इसकी कई जातियां है आपको जो भी जिस भी जाती का मिले ले लीजिये. और हाँ एक बात पर धयान दें इसका पत्ता तोड़ते समय इसका दूध आँख में ना जाये नहीं तो आप की आँखें खराब हो सकती है. क्यों हैं ना ये बेहतरीन. और इस प्रयोग को करने में कोई खर्चा भी नहीं. तो आज ही करना शुरू करें और फायदा उठायें
    एक बात का ध्यान रखें, कई लोग जो शुगर और मोटापे से परेशान हैं वो अपनी दिन चर्या को बहुत मैनेज रखतें है जैसे सुबह उठ कर सैर करना, खान पान पर ध्यान देना, वो लोग अक्सर ऐसा कोई प्रयोग देख कर ढीले और आलस पाल लेते हैं तो उनसे बिनती है के वो अपनी दिनचर्या को पहले जैसा ही रखें. ऐसा करने से उनको रिजल्ट बहुत जल्दी मिलेगा

    Wednesday, 26 April 2017

    इन सलाद का सेवन करने से नहीं लगेगी गर्मी



    गर्मी के मौसम में खाने में सलाद का प्रयोग ज्यादा करना चाहिए। सलाद में 95 प्रतिशत मात्रा में जल होता है। इसमें प्रोटीन की मात्रा काफी अधिक और वसा बिल्कुल कम होता है। गर्मियों मे विशेष तरह की सलाद बनाने के तरीके जानने के लिए ये स्लाइडशो पढ़े


    • 1

      कच्ची सलाद से पाये स्वास्थ्य

      गर्मियों में आपके शरीर को अधिक से अधिक पानी की आवश्कता होती है ,इसलिए कच्ची सलाद का सेवन करने से आपका शरीर स्वस्थ रहता है,पानी की कमी नहीं होती । शरीर का तापमान सामान्य रहता है।खीरा, ककड़ी, अनार के दाने, टमाटर, कटे केले को एक बाउल में डाले ,ऊपर से नमक ,काला नमक ,लाल मिर्च ,चीनी, इमली का पानी, चाट मसाला, नीबूं का रस डाल कर मिलाये। भुने जीरे से सजाये।
    • 2

      गर्मी मिटाने के साथ खूबसूरती बढ़ायें फ्रूट सलाद

      फ्रूट सलाद गर्मी मिटाने के साथ खूबसूरती भी बढता है। सलाद बनाते समय सब्जी और फलों का ताजा होना बहुत जरूरी है। सलाद में सेब, संतरे की फांके, काला अंगूर, कीवी पपीता, मौसमी व आडू मिलाएं।सलाद का स्वाद बढाने के लिए इसमें जैतून का तेल, बादाम का तेल, तिल का तेल, फलों व नींबू का रस, सिरका दही व क्रीम का यूज करें। इस सलाद को केसर मिल्क शेक के साथ सर्व करें
    • 3
    • पानी की कमी को पूरा करे खीरा और दही की सलाद

      गर्मी से निपटने और पानी की कमी को पूरा करने के लिए आप खीरे और दही के मिश्रण से तैयार सलाद ट्राई कर सकते हैं।खीरा, कटा हुआ टमाटर और हरी मिर्च को सलाद की कटोरी में रखकर मिक्स कर लें।दही फेंट लें और इसमें नमक और जीरा पाउडर मिला लें। इस मिश्रण को सलाद के कटोरे में डालकर अच्छी तरह मिला लें। ऊपर से हरा धनिया और पुदीने के पत्ते डालकर सर्व करें
    • मसालेदार सलाद से पायें पौष्टिकता

      गर्मी के मौसम में भी अगर आप को मसालेदार सलाद पसंद है, तो यह आपके लिए मनपंसदीदा सलादों में से एक सलाद हो सकता है। टमाटर, प्याज, ककड़ी, गाजर, शिमला मिर्च को बारीक काट लीजिये। एक कढाई में तेल को गर्म करे, अब इसमें जीरा, तिल डालिए। जब जीरा तड़कने लगे तब उसमें सब्जी मिश्रित कीजिये। अब इसमें नीबु का रस डालिये। सब्जियों को पकाना नहीं है। तुरंत गैस को बंध कर दीजिये
    • 5

      खीरे और आम की मीठी सलाद

      अगर आप गर्मी के दिनों में ठंडा और मीठा खाना चाहते हैं तो खीरा मैंगो सलाद आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है।  सोया सॉस, स्वीट लाइम जेस्ट, स्वीट लाइम जूस, आयल, ब्राउन शुगर, सिरका और काली मिर्च को एक बड़े कटोरे में डालकर अच्छी तरह मिला लें।  इसके बाद इसमें खीरा, आम और धनिया डालें और मिला लें। ऊपर से लाइम जेस्ट डालकर सर्व करें

    अदरक और नमक लें, कफ को बाय-बाय कहें


    अदरक और नमक लें, कफ को बाय-बाय कहें

    अदरक एक उपयोगी औषधि है जिसका इस्‍तेमाल हम भोजन के साथ-साथ चाय का स्‍वाद बढ़ाने के लिए भी करते है। यानी अदरक का इस्‍तेमाल हम एक मसाले के रूप में करते है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि अदरक उससे भी ज्‍यादा गुणकारी होती है। यह रोगों से लड़ने में भी मददगार होता है। यह पेट की हर समस्‍या को दूर करने के साथ-साथ कफ से लड़ने में भी मदद करता है। आइए जानें कैसे अदरक कफ को दूर करने में मदद करता है
    कफ में मददगार अदरक
    यूं तो कफ से निपटना बहुत मुश्किल होता है और ऐसा लगता है कि यह कभी खत्‍म नहीं होगा। लेकिन अगर आप कफ की समस्‍या से परेशान हैं और इसके लिए प्राकृतिक उपायों की खोज कर रहे हैं तो अदरक और नमक कफ को दूर करने में किसी वरदान से कम नहीं है। अदरक श्‍वास नली के संकुचन में आने वाली बाधा को कम करता है। जिससे आपको खांसी से होने वाले कफ को दूर करने में मदद मिलती है। साथ ही अदरक में मौजूद एंटी-ऑक्‍सीडेंट तत्‍व गले और श्‍वास नली में जमा टॉक्‍सिन को साफ करके कफ को बाहर निकालता है
    यहीं नहीं अदरक में ऐसे गुण भी पाए जाते हैं, जो अस्‍थमा और ब्रोंकाइटिस को दूर करने में लाभदायक होते हैं। और अगर अदरक में नमक मिला दिया जाए, फिर तो सोने पे सुहागा जैसा हो जाता है यानी की इसकी ताकत दोगुनी बढ़ जाती है। नमक गले में जमा बलगम को तेजी से निकालने में मदद करता है और बैक्‍टीरिया को पनपने से रोकता है

    अदरक और नमक को सेवन करने का तरीका

    अदरक और नमक को एक साथ चबाने से असर ज्‍यादा होता है। कफ के लिए अदरक और नमक का सेवन करने के लिए सबसे पहले अदरक को छील कर धो लें और छोटे पीस में काटें। फिर उस पर थोड़ा सा नमक छिड़के। अब इसे चबाएं। अगर आपको इसका स्‍वाद अच्‍छा नहीं लगता है तो आप इसे खाने के बाद शहद ले सकते हैं।

    अदरक और नमक का काढ़ा

    हालांकि अदरक और नमक को एक साथ चबाने से कफ बहुत आसानी से दूर होता है, लेकिन बहुत से लोग ऐसा नहीं कर पाते। इसलिये अच्‍छा होगा अगर आप इसका काढ़ा बनाकर पीएं। इसे बनाने के लिये एक गिलास उबलते हुए पानी में अदरक के थोड़े से टुकड़े और चुटकी भर नमक मिलाएं।2 फिर पानी को आधा हो जाने तक उबालें। जब पानी आधा रह जाए तो गैस बंद कर दें। फिर इसे छान कर रख लें और जब यह थोड़ा सा ठंडा हो जाये तो इसे पी लें

    जवां बने रहना चाहते है तो खाएं यह फल




    आंवला का सही फायदा उठाना है तो आंवले के जूस को अपनी डाइट में शामिल कर लें और इसे रोज सुबह इसे पीएं। सुबह-सुबह खाली पेट आंवले का जूस पीने से एक नहीं हजारों फायदे हैं। इससे पाचन तंत्र में तो मदद मिलती ही है साथ ही निखरी त्वचा, बालों को काला, लम्बा और घना रखने और आंखों के लिए आंवला काफी फायदेमंद है। कहा जाता है कि आंवला खून पित्त, अम्ल पित्त, पांडू, त्रिदोष, दमा, खांसी, श्वास रोग, कब्ज, छाती के रोग, दिल का रोग, मूत्र विकार जैसे कई बीमारियों में फायदा पहुंचा सकता है। इसके इस्तेमाल से मोटापा भी दूर होता है और समय से पहले बूढ़ापे के लक्षण को रोकने में भी आंवला बेहद मददगार है। आइए जानें आंवले के और क्या है फायदे:


    1. रोजाना आंवले के जूस का इस्तेमाल करने से कोलेस्ट्रोल लेवल को कम करने में मदद मिलती है। इसमें मौजूद एमिनो एसिड और एंटी ऑक्सीडेंट्स की वजह से यह दिल के लिए फायदेमंद है।
    2. चेहरे पर अगर दाग धब्बे हों तो रूई से इसके रस को लेकर रोज चेहरे पर लगाना चाहिए। इससे चेहरे के दाग-धब्बे, पिग्मेंटेशन में तो राहत मिलती ही है साथ ही इसमें मौजूद ऑक्सीडाइजिंग मेलेनिन त्वचा के ओपन पोर्स को भी बंद करने में मदद करते हैं। अच्छे और काले बालों के लिए आंवला, रीठा व शिकाकाई के चूर्ण का इस्तेमाल करना चाहिए
    3.आंवले को कई तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है। आंवले के चूर्ण को शहद के साथ खाना चाहिए। इससे ब्लड साफ होता है। अगर इसे शहद या घी के साथ खाएंगें तो एसिडिटी की परेशानी में फायदा होगा।
    4.शुगर के मरीजों को आंवले के जूस को रोज पीना चाहिए। इससे शुगर लेवल ठीक रहता है और धीरे-धीरे डायबिटीज से हमेशा के लिए मुक्ति मिल सकती है।
    5. समय से पहले बूढ़ापे के लक्षण को रोकने में भी आंवला बेहद मददगार है। इसके लिए सूखे आंवले का चूर्ण और तिल का चूर्ण बराबर मिलाकर घी या फिर शहद के साथ खाने से  आप जवां बने रहते हैं

    पित्त की थेली – Gallbladder पथरी के रामबाण घरेलू उपाय एवं उपचार

    पहले 5 दिन रोजाना 4 ग्लास एप्पल जूस (डिब्बे वाला नहीं) और 4 या 5 सेव खायें …..
    छटे दिन डिनर नां लें ….



    पथरी के रामबाण घरेलू उपाय एवं उपचार:इस छटे दिन शाम 6 बजे एक चम्मच ”सेधा नमक” ( मैग्नेश्यिम सल्फेट ) 1 ग्लास गर्म पानी के साथ लें …


    इस पेड़ की पत्तियां खाइए ठीक हो जाएगा कैंसर

    कैंसर जैसी गंभीर बीमारी को एक पेड़ की पत्‍ती से ठीक किया जा सकता है। शायद यह पढ़कर आपको यकीन न हो लेकिन यह सच है। छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में दहीमन नाम के इस पेड़ से और भी बीमारियों का उपचार होता है।

     जिससे अब इस विशेष किस्‍म के पौधे के सरंक्षण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। आइए जानें इस वृक्ष के बारे में…


    मोटापे से परेशान लड़कियों के लिए वरदान यह चीज़

    अजवायन को मसालों का राजा कहा जाता हैं, आयुर्वेद में भी अनेक दवाओ में इसका उपयोग किया जाता हैं। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं अजवायन के ऐसे प्रयोग के बारे में जो मोटापे से परेशान लड़कियों के लिए वरदान से कम नहीं।


     अजवायन बहुत गर्म होती हैं इसलिए इसको सिर्फ सर्दियों में ही करे, और वो लडकिया बिलकुल ना करे जिनको अभी माहवारी शुरू नहीं हुयी हो। इस प्रयोग से रुके हुए और अनियमित पीरियड्स भी सही होंगे। तो इसको ज़रूर आजमाए


    चने बादाम अखरोट मुनक्का – खाने वाला रहे सौ साल तक हट्टा कट्टा

    नियमित कम से कम तीन महीने तक ये खाने वाले को इसके भरपूर फायदे होंगे और पूरी उम्र नियमित हर रोज़ खाने वाला 100 वर्ष तक भी जवानी का अहसास रखेगा. इसके सेवन से बच्चों के शारीरिक और मानसिक विकास में ग़ज़ब का निखार आएगा, पुरुषों स्त्रियों में कमजोरी दूर हो कर बल बुद्धि वीर्य तेज़ बढेगा.



     थाइरोइड, अस्थमा, खून की कमी, त्वचा विकार आदि दूर होकर शरीर घोड़े जैसा प्रबल बनेगा. शीघ्रपतन, वीर्य की कमी, आदि पुरुष रोगों के लिए अत्यंत फायदेमंद है. स्त्रियों के श्वेत प्रदर में अत्यंत लाभकारी है. और सबसे बड़ी बात इसको आप सर्दी गर्मी बारह महीने खा सकते हैं


    जानिये होम्‍योपैथी के बारे में ऐसी बातें जो कोई नहीं बताता

    इंसान ने मेडिकल साइंस की मदद से काफी तरक्की कर ली है और कई बीमारियों का इलाज भी ढूंढ निकाला है। ऐसा ही एक उपचार है होमियोपैथी और होमियोपैथी के विषय में कुछ रोचक तथ्य हैं जो आपको पता होना चाहिए

    जैसा कि हम जानते हैं कि मनुष्य को उपचार की कई विधियां जैसे एलोपैथी, आयुर्वेद, होमियोपैथी और यूनानी के बारे में पता है।
    एलोपैथी को मुख्यधारा में इस्तमाल किया जाने वाला उपचार भी कहा गया है और यह सबसे ज़्यादा कारगर उपचार भी माना जाता है