Saturday, 30 April 2016

हाई ब्लड प्रेशर उससे बचाव और उस पर काबू

हाई ब्लड प्रेशर उससे बचाव और उस पर  काबू


                                                                                          ब्लड प्रेशर किस वजह से बढ़ता है? मान लीजिए कि आप अपने बगीचे में पानी दे रहे हैं। अगर आप नल को पूरा खोल दें या पाइप के मुहाने को छोटा कर दें तो पानी का दबाव बढ़ जाएगा। ब्लड प्रेशर के मामले में भी कुछ ऐसा ही होता है: रक्त-वाहिकाओं में खून के बहने की रफ्तार के बढ़ने या वाहिकाओं के तंग हो जाने से ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। हाई ब्लड प्रेशर कैसे होता है? इसके कई कारण हैं।
ऐसे कारण जिन्हें काबू करना आपके बस में नहीं
खोजकर्ताओं ने पाया है कि अगर किसी व्यक्ति के रिश्तेदारों को हाई ब्लड प्रेशर है तो उसे भी यह बीमारी होने की गुँजाइश ज़्यादा होती है। आँकड़े दिखाते हैं कि फ्रैटर्नल जुड़वों के मुकाबले आइडेंटिकल जुड़वों को हाईपरटेंशन होने का खतरा ज़्यादा होता है। एक अध्ययन में “जीन्स की जाँच” का ज़िक्र किया गया, “जिनकी वजह से आर्टीरियल हाईपरटेंशन होता है।” और इस खोजबीन से यह साबित हो सकता है कि हाई ब्लड प्रेशर का रोग एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी को मिलता है। यह भी देखा गया है कि उम्र के बढ़ने के साथ-साथ हाई ब्लड प्रेशर का खतरा हद-से-ज़्यादा बढ़ जाता है और इस बीमारी का खतरा काले पुरुषों में ज़्यादा होता है।
कारण जिन्हें आप काबू कर सकते हैं
अपनी खुराक पर ध्यान दीजिए! नमक ज़्यादा खाने से कुछ लोगों का ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। ऐसा खासतौर पर कुछ काले लोगों, बूढ़ों, मधुमेह के रोगियों, बहुत ज़्यादा हाईपरटेंशन से पीड़ित लोगों में होता है। खून की नलियों में चर्बी बढ़ जाने से रक्त वाहिकाओं की अंदरूनी सतह में कोलेस्ट्रॉल जमा (ऐथिरॉस्केलेरोसिस) हो सकता है। इससे धमनियाँ संकरी हो जाती हैं और ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है। जिन लोगों का वज़न सामान्य से 30 प्रतिशत ज़्यादा हो उनको हाई ब्लड प्रेशर होने का खतरा रहता है। खोजों से पता चलता है कि पोटेशियम और कैल्शियम ज़्यादा मात्रा में लेने से ब्लड प्रेशर कम हो सकता है।

No comments:

Post a Comment