Wednesday, 23 November 2016

सक्षम ने सालभर में 50 किलो वज़न घटाया, जानिये कैसे हुआ ये चमत्कार

सक्षम ने सालभर में 50 किलो वज़न घटाया, जानिये कैसे हुआ ये चमत्कार


सक्षम कुमार, अंबाला का स्टूडेंट है और वह दूसरे स्टूडेंट के तरह ही कॉलेज जाता है, दोस्तों के साथ मस्ती करता है। लेकिन एक साल पहले घर जाकर मैंने देखा कि उसने खुद को बिल्कुल बदल दिया है। पहले उसका वज़न 115 किलो था और तब उसका वज़न 57 किलो था। अब उसका मिशन है मसल्स बनाने का। उससे बातचीत के दौरान उसने अपने वज़न घटाने की पूरी कहानी बताई।

तुम्हारा वज़न कैसे इतना बढ़ गया? तुम क्या हमेशा से ही ऐसे थे?

मैं बचपन से ही थोड़ा गोलू-गोलू जैसा था लेकिन दसवीं पास करने के बाद मेरा वज़न बढ़ने लगा। 17 से 19 साल के बीच मैंने इस तरफ उतना ध्यान नहीं दिया। मेरा पूरा ध्यान पढ़ाई पर रहने के कारण ट्यूशन ,स्टडी को लेकर ही व्यस्त रहता है। जंक फूड्स बहुत खाता था और कोई फिज़िकल एक्टिवीटी नहीं था। घर पर रहने के बावजूद घर का खाना न के बराबर खाता था। देर रात पढ़ने की आदत होने के कारण चिप्स, बिस्किट, कोल्ड ड्रिंक ज्यादा लेता था। और फिर वज़न बढ़कर 115 किलो हो गया।

कब तुम्हें महसूस हुआ कि वेट लॉस करना है?

जब मैं कॉलेज जाने लगा तब मुझे अपने लुक का ध्यान आया। सब कोई फिट और स्लिम हैं और मैं थुलथुला मोटा। मैंने सोचा अगर मैं ऐसा ही मोटा रहा तो किसी भी खेल में भाग नहीं ले पाऊंगा। इसलिए 19 साल के उम्र में मैंने वज़न घटाने का निर्णय ले लिया। इस काम में मेरे एक स्कुल के दोस्त ने मुझे प्रेरणा दी। वह भी मोटा था, और किसी हेल्थ प्रॉबल्म के कारण उसको वज़न घटाना पड़ा। उसने मुझे बताया कि क्या करना चाहिए। उसने सबसे अच्छे जिम को ज्वाइन करने की सलाह दी और मैंने वही जिम ज्वाइन किया।
तुम्हारा वर्कआउट रूटीन क्या था?
मेरे पास खुद का कोई पर्सनल ट्रेनर नहीं था। मैंने इंटरनेट पर सर्च किया और वर्कआउट रूटीन और वेट लॉस डायट प्लान बनाया। मैंने वर्कआउट करना शुरू किया, विशेषकर कार्डियो एक्सरसाइज़। मैं ज्यादा वेट ट्रेनिंग नहीं करता था।
मैं 1.5 घंटे जिम में रहता था और 40 मिनट तक ट्रेडमिल, इलेप्टिकल ट्रेनर करता था फिर रन, स्किप, जंप, साइकिल आदि करता था। मेरा एक ही गोल होता था वह है ज्यादा से ज्यादा कैलोरी बर्न करना।
क्या जिम जाने के लिए तुम कॉलेज बंक करते थे?
नहीं मैं शाम को 7.30 बजे जिम जाता था। जिम जाने के पहले ब्राउन ब्रेड पिनट बटर के साथ खाता था और वर्कआउट करने के बाद सोयाबीन या उबला दाल रात खाता था।
तुम कैसा डायट फॉलो करते थे?
मैं दिन की शुरूआत नींबू पानी से करता था, फिर एक मुट्ठी नट्स खाता था। कॉलेज जाने से पहले हाइ फाइबर और डाइजेस्टिव बिस्किट खाता था। लंच और डिनर में चना, दाल सूप, सोयाबीन आदि खाता था। कॉलेज से आने के बाद फल खाता था। शाकाहारी होने के कारण मीट नहीं खाता था। एक साल तक मैंने रोटी और चावल नहीं खाया।
तुमने कोई प्रोटीन सप्लीमेंट लिया था?
नहीं, मेरे पिता ने इसका परमिशन नहीं दिया। उनका पहला शर्त था कि मुझे नैचुरल तरीके से वज़न घटाना है, सप्लीमेंट का सहारा लिये बिना।
तुम अपने क्रेविंग को कैसे कंट्रोल करते थे?
मुझे कुछ हंगर पैंग्स नहीं होता था लेकिन जब मुझे भुख लगती थी तब मैं सलाद, स्टीम्ड ढोकला, ग्रीट टी आदि लेता था। मैंने घर का खाना खाना शुरू किया।
इस काम में क्या तुम्हारे घर के लोग तुम्हारी सहायता कर रहे थे?
हमारे यहाँ बहुत त्योहार मानाया जाता है और त्योहार में मिठाई तो लाज़मी होते हैं। लेकिन मैंने अपने घरवालों को कह दिया था कि मैं अपने डायट प्लान पर ही स्टिक रहूंगा। यहां तक के मेरे रिश्तेदार भी मुझे मिठाई नहीं देते थे।
यहां तक कि मेरे इस सफलता में सबने मेरा पूरा साथ दिया था। जिम के मेम्बरशिप का फी भी उन्होंने ही दिया था
क्या तुमने कॉलेज पार्टी एटैन्ड नहीं किया? वहाँ तुम क्या खाते थे?
कॉलेज पार्टी में मैं कुछ खाता नहीं था। बाहर जाने पर मैं सलाद आदि ही ऑडर करता था। मैंने बाहर जंक फूड्स, कोल्ड ड्रिंक जैसे हाइ कैलोरी फूड्स न खाने का खुद से वादा किया था।
वेट लॉस करने के बाद तुम्हें कैसा महसूस हो रहा है?
पहले के चार महीनों में मैंने चार किलो वज़न घटाया था। वज़न घटते देखकर मुझे खुशी का एहसास हुआ और मैं और मेहनत करने लगा। लेकिन इस ओर भी मुझे इस बात पर ध्यान रखना था कि मेरा वज़न घटाने का एक्शन सही समय पर रोकना है।
तुम्हें कभी भी इस डायट प्लैन को गीभ अप करने का मन नहीं किया था?
कॉलेज में दोस्तों को खाते देख कर मन तो करता था मगर खुद के निर्णय को याद करके कंट्रोल कर लेता था। मैं फिर से वज़न बढ़ाना नहीं चाहता था।
तुम्हारा वज़न घटने पर लोगों की क्या प्रतिक्रिया थी?
पहले तो लोगों को विश्वास ही नहीं हुआ कि मैंने सिर्फ अपने प्रयास से ही इतना वज़न घटाया है। उन्हें लगा कि मैंने कोई सर्जरी किया है लेकिन मैंने उन्हें बताया कि कैसे जिमिंग और डाइटिंग के मदद से वेट लॉस किया।
वेट लॉस करने के बाद तुम्हारे लाइफ में क्या बदलाव आया?
मुझ में पहले से ज्यादा आत्मविश्वास आ गया है। मैं लोगों से पूरे आत्मविश्वास से बात करता हूं कि बिना यह सोचे कि वे क्या सोचेंगे। मैं अब खेल सकता हूं और पहले से ज्यादा एक्टिव हूं।
जो लोग वज़न घटाते हैं उन्हें स्ट्रेच मार्क्स या सैगी स्किन की समस्या होती है। तुम्हें हुआ क्या?
हाँ, वज़न घटने के बाद स्किन में ढीलापन आ गया और पूरे बॉडी में स्ट्रेच मार्क्स आ गए। स्किन को टाइट करने के लिए वेट ट्रेनिंग करने लगा। मैं नारियल का तेल और बाजार से स्ट्रेच मार्क्स के क्रीम का इस्तेमाल करने लगा।
आज तुम्हारा वज़न कितना है?
एक साल तक डायटिंग और वर्कआउट करने के बाद आज मेरा वज़न 57 किलो है।
क्या ये वज़न तुम्हारे हाइट और एज से कम है?
हाँ, मेरा हाइट 5 फिट 7 इंच है और मेरा इस ओर भी ध्यान है। मैं वेट ट्रेनिंग के मदद से जिम में मसल मास को थोड़ा बढ़ा रहा हूं। मेरा फिटनेस प्रोग्राम थोड़ा बदल गया- वेट लॉस से वेट गेन की ओर। मैं अपना वज़न 66 किलो करना चाहता हूं।
तो तुम्हारा नया वर्कआउट रूटीन क्या है?
मैं स्ट्रेंथ ट्रेनिंग, वार्म अप और कुल डाउन करने के लिए कार्डियो करता हूं। मैं अलग-अलग बॉडी पार्टस पर काम करती हूं, जैसे- चेस्ट, बैक और बाइसेप, लेग्स, ट्राइसेप्स और थ्री सेट्स ऑफ 15 रेप्स करता हूं। सुबह-शाम वाक करने के सिवा क्रिकेट खेलता हूं।
क्या फिर तुमने डायट में भी बदलाव किया?
मैंने रोटी और ब्राउन राइस खाना शुरू किया है। वेट ट्रेन के बाद ज्यादा खाता हूं क्योंकि तब शरीर ज्यादा कैलोरी बर्न करता है। मैं अब भी जंक फूड्स नहीं खाता हूं और आहार विशेषज्ञ से भी सलाह लेता हूं।
क्या तुम वेट लॉस करने के लिए किसी को प्रेरणा देना चाहते हो?
वज़न घटाने के बाद मेरे बहुत दोस्त और रिश्तेदार मुझसे पुछने आये कि मैंने वज़न घटाने के लिए क्या किया? मुझे बस एक ही बात कहना है कि खुद को वेट लॉस करने के लिए प्रेरित करे और अपने निर्णय पर अडिग रहे।
जो लोग वज़ घटाना चाहते हैं उन्हे कुछ टिप्स देना चाहोगे?
खुद पर विश्वास रखो। ग्रीन टी पियो, शुगर और हाई कैलोरी डायट से दूर रहो, नट्स खाओ। सही डायट और एक्सरसाइज़ से वज़न घटाया जा सकता है

No comments:

Post a Comment