Thursday, 30 June 2016

गुणकारी अनार के फायदे

अनिंद्रा रोग के उपचार

सर्वगुण संपन्न

गुड़ और चना को साथ में खाने के फ़ायदे…

गुड़ और चना को साथ में खाने के फ़ायदे…

 

घरेलू नुस्खे कम समय में शरीर को आराम पहुंचाते हैं और साथ ही यह सेहत को भी ठीक रखते हैं l हम सब सर्दियों में गुड खाते है l  गुड़ और चना दोनों ही सेहत के लिए बहुत लाभदायक हैं l
392
 गुड़ और चना साथ खाने के क्या हैं फायदे…

खून की कमी में फायदेमंद
2

आयरन की मात्रा से हैं भरपूर
3

गुड़ और चना आयरन से भरपूर होता है और यही कारण है कि एनीमिया से बचने के लिए यह बेहद मददगार साबित होता है l गुड़ में उच्च मात्रा में आयरन होता है और भुने हुए चने में आयरन के साथ-साथ प्रोटीन भी सही मात्रा में पाया जाता है  l इस तरह से गुड़ और चने को मिलाकर खाने से आवश्यक तत्वों की कमी पूरी होती है, जो एनीमिया रोग के लिए जिम्मेदार होते हैं l

बॉडी को मिलती है एनर्जी

गुड़ और चना न केवल आपको एनीमिया से बचाने का काम करते हैं, बल्कि आपके शरीर में उर्जा की पूर्ति भी करते हैंl शरीर में आयरन अवशोषि‍त होने पर ऊर्जा का संचार होता है, जिससे थकान और कमजोरी महसूस नहीं होती l
हालांकि अत्यधिक मात्रा में भी इसका सेवन आपके भोजन की आदत को प्रभावित कर सकता है l इसलिए इसे नियमित रूप से और नियंत्रित मात्रा में खाना अधिक फायदेमंद रहता है l

दालचीनी और शहद का मिश्रण है जुकाम से लेकर कैंसर और हार्ट अटैक तक का रामबाण इलाज..!!

दालचीनी और शहद का मिश्रण है जुकाम से लेकर कैंसर और हार्ट अटैक तक का रामबाण इलाज..!!

 

आपने घर के मसालों की रानी, दालचीनी का उपयोग तो कई बार किया होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि‍ यह आपकी हर बीमारी का इलाज करने में सक्षम है। और जब दालचीनी के साथ शहद का भी मेल हो जाए, फिर तो यह समझो सोने पर सुहागे वाली बात हो गई।
शहद और दालचीनी का मिश्रण कई बीमारियों का रामबाण इलाज़ माना  जाता है | ये कई बिमारियों से हमे छुटकारा दिला सकता है | हजारों सालों से चलता आ रहा ये नुख्सा स्वास्थ्य विशेषज्ञों दुवारा भी प्रमाणित हो चूका है |
इजिप्ट वासी इस नुख्से का इस्तेमाल घावों को भरने के लिए, ग्रीक वासी इस का इस्तेमाल अपनी जीवनशेली को लम्बा बनाने के लिए और भारतीय कोग इस का इस्तेमाल अपने स्वास्थ्य को संतुलित बनाये रखने के लिए कई साल पहले से करते आ रहे है |
अगर आप अब तक इसके गुणों से अनजान हैं, तो जरूर पढ़े दालचीनी और शहद के यह अनमोल गुण और उससे होने वाले फायदे – 
1
1.कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए :- इस मिश्रण के माध्यम से आप बहत आसानी से अपने कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण कर सकते है | 1 कप पानी में 2 चमच शहद और 3 चमच दालचीनी मिला कर सेवन करने से 2 घंटे में आपका 10% कोलेस्ट्रॉल कम हो जयेगा |
2.ह्रदय रोग – हृदय को स्वस्थ बनाए रखने और हृदय रोगों पर नियंत्रण रखने में दालचीनी सहायक होती है, क्योंकि यह हृदय की धमनियों में कोलेस्ट्रॉल को जमने से रोकती है। प्रतिदिन शहद और दालचीनी का गर्म पानी के साथ सेवन करें। आप दालचीनी और शहद के मिश्रण को रोटी के साथ भी खा सकते हैं। इसके अलावा दालचीनी को चाय में डालकर भी ले सकते हैं। इसके प्रयोग से हार्ट अटैक की संभावना कम हो जाती ह
3.गठिए से राहत – जोड़ों में दर्द होने पर दालचीनी का प्रयोग आपको राहत देता है। इसके लिए प्रतिदिन दालचीनी का गर्म पानी में सेवन तो लाभप्रद है ही, इसके अलावा इस हल्के गर्म पानी की दर्द वाले स्थान पर मालिश करने से भी जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है।
इसके पानी को पीने एक सप्ताह में संधिवात के दर्द से निजात मिलती है और एक महीने तक इका सेवन करने से चलने फिरने में असमर्थ लोग भी चलने में सक्षम हो जाते हैं। आर्थाइटिस के दर्द में भी दालचीनी काफी फायदेमंद साबित होती है।
4.पित्ते की इन्फेक्शन :– इस औषधि से पितते की इन्फेक्शन भी दूर हो जाये गी | अगर आप सामग्री की मात्रा को बडाना चाहते हो तो 2 चमच दालचीनी और एक या दो चमच शहद के उबले हुए पानी में डाल कर भी सेवन कर सकते है |
5.सर्दी-खांसी –  सर्दी, खांसी या गले की तकलीफों में दालचीनी बेहद असरकार‍क दवा के रूप में काम करती है। इसे पीसकर एक चम्मच शहद के साथ एक चुटकी मात्रा में खाने से जुकाम में लाभ मिलता है। आप गर्म या गुनगुने पानी में दालचीनी के पाउडर को शहद के साथ मिलाकर पी सकते हैं। दालचीनी के पाउडर को पिसी हुई काली मिर्च के साथ सेवन करने से भी राहत मिलती है। इससे पुराने कफ में भी राहत मिलेगी।
6.पेट के रोग- अपच, गैस, पेट दर्द और एसिडिटी जैसी समस्यों में भी दालचीनी का पाउडर लेने से आराम मिलता है। इससे उल्टी-दस्त की समस्या में भी लाभ होता है, और भोजन का पाचन भी बेहतर होता है। शहद और दालचीनी के पावडर का मिश्रण लेने से पेट का अल्सर जड़ से ठीक हो जाता है।
7.कैंसर- दालचीनी का प्रयोग कैंसर जैसे रोग पर नियंत्रण पाने में सक्षम है। वैज्ञानिकों ने अमाशय के कैंसर और हड्डी के बढ़ जाने की स्थति‍ में दालचीनी और शहद को लाभदायक बताया है। एक माह तक गरम पानी में दालचीनी पाउडर और शहद का सेवन इसके लिए बेहद फायदेमंद होता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करता है, जिससे शरीर बीमारियों से लड़ सके |

मोटापा कम करने के लिये रात में करें ये 4 जरुरी काम

मोटापा कम करने के लिये रात में करें ये 4 जरुरी काम

 

आज हर पांच में से तीसरा व्‍यक्‍ति मोटापे से परेशान है। अगर आप भी कई महीनों से मोटापा घटाने की कोशिश कर रहे हैं और इसमें कामियाबी हांसिल नहीं कर पा रहे हैं, तो कुछ जरुरी नियमों का पालन करें।
रात को अगर आप सोने से पहले कुछ जरुरी नियमों का पालन कर लेते हैं, तो समझिये कि वजन घटाना आपके लिये चुटकियों का काम हो जाएगा। हमारा शरीर चर्बी घटाने का काम नियमित रूप से दिन और रात में करता रहता है, इसलिये नीचे दिये कुछ आसान से काम जरुर कीजियेगा, जिससे आप झट से मोटापा घटा लें।

मिर्च का सेवन: 

वैज्ञानिक अध्ययनों से पता चला है, कि मोटापा घटाने के लिये मिर्च का सेवन करना चाहिये। सोने से पहले इसका सेवन भोजन में करें जिससे लगातार वजट घटने की प्रक्रिया चलती रहे।
2
ग्रीन टी पियें: रात को सोने से पहले ग्रीन टी पीने पर शरीर का मैटाबॉलिज्‍म बढ़ता है, जिससे रातभर आपका वजन कम होता रहता है ।
3

शक्‍कर और स्‍टार्च ना खाएं:

शक्‍कर और स्‍टार्च कार्ब्‍स होते हैं, जो कि इंसुलिन के निकलने की प्रक्रिया को उत्‍तेजित कर देते हैं। इंसुलिन शरीर में मुख्य फैट स्‍टोरेज हार्मोन होता है। जब इंसुलिन की मात्रा कम रहती है, तब शरीर उसमें जमा फैट को बर्न करना शुरु कर देता है, इसलिये रात को कार्ब न खाएं।
4

पूरी नींद लें: 

खराब नींद आपके वजन को बढ़ा कर मोटापे का शिकार बना सकती है। सोने से पहले कुछ रिलैक्‍सेशन टेक्‍नीक का इस्‍तमाल करें, जैसे ध्‍यान, सुकून भरा संगीत सुने, गरम पानी से स्‍नान, आदि। अच्‍छी नींद लेने से शरीर का मेटाबॉलिज्‍म बढ़ता है और फैट बर्न होता है। सोने से शरीर का हार्मोन कंट्रोल होता है जिसेस बार बार भूंख नहीं लगती और शरीर की ऊर्जा भी नहीं घटती।
5

पीयें जीरे और गुड़ का पानी, दूर होंगी शरीर की सारी बीमारियां

पीयें जीरे और गुड़ का पानी, दूर होंगी शरीर की सारी बीमारियां

 

1.पेट फूलने से आराम दिलाता है

जीरे और गुड़ का मिश्रण एसिड के प्रभाव को बेअसर कर देता है जिसके अकारण पेट में गैस बनना, पेट फूलना और एसिडिटी कम होती है।

2. शरीर के तापमान को कम करता है

 यह प्राकृतिक पेय शरीर के तापमान को कम करता है और शरीर के तापमान को नियमित करता है जिससे बुखार, सिरदर्द और जलन आदि से राहत मिलती है।

3. शरीर के दर्द को कम करता है

 जीरे और गुड़ के मिश्रण में प्रदाहनाशी गुण होते हैं अत: यह प्रभावित भाग में रक्त प्रवाह को बढाकर शरीर के दर्द को कुछ हद तक कम करता है।

4. मासिक धर्म को नियमित करता है

 यह मिश्रण महिलाओं के शरीर में हार्मोंस के असंतुलन को नियमित करता है और इस प्रकार मासिक धर्म की अनियमितता को दूर करता है। यह मासिक धर्म के समय होने वाले दर्द से भी राहत दिलाता है।

5. यह एक प्राकृतिक डिटॉक्स है

 जीरे और गुड़ का यह मिश्रण प्राकृतिक बॉडी डिटॉक्स (विषैले पदार्थों को बाहर निकालना) की तरह कार्य करता है जो आपके संपूर्ण शरीर को स्वच्छ करता है तथा शरीर से विषैले पदार्थों को प्रभावी रूप से बाहर निकालता है तथा इस प्रकार आपके प्रतिरक्षा तंत्र को मज़बूत बनाता है।

6. कब्ज़ को रोकता है

 आयुर्वेद में भी यह बताया गया है कि यह मिश्रण कब्ज़ से आराम दिलाने तथा उसे रोकने में सहायक होता है क्योंकि यह मल त्याग की प्रक्रिया को नियमित करता है।

7. एनीमिया से बचाव

 जीरा तथा गुड़ दोनों में पोषक तत्व तथा खनिज प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो लाल रक्त कोशिकाओं को स्वस्थ रखने के लिए आवश्यक होते हैं। इस प्रकार यह ड्रिंक एनीमिया से बचाव करता है।

स्वाद भरा हेल्दी पनीर टिक्का बनाने की विधि




सामग्री :



लाजवाब स्टिर फ्राइ बनाने की विधि

सामग्री

कार्बोहाइड्रेट के विकल्प-


मेथी आलू बनाने की विधि


सामग्री

(4 लोगों के लिए)
  •     आलू 1 मध्यम
  •     मेथी 1 गडॅडी
  •     सोया पत्ती 1 गडॅडी
  •     हरी मिर्च 2
  •  


मावे के अनरसे बनाने की विधि


मावे के अनरसे साधारण अनरसों से ज्यादा स्वादिष्ट व मुलायम होते हैं। ये उन पकवानों की श्रेणी में आते हैं जिन्हें आमतौर पर तीज-त्यौहारों या किसी विशेष अवसर पर बनाया जाता है। तो आइये बनाएं मावे के अनरसे।

वेज स्प्रिंग रोल बनाने की विधि

सामग्री

  • 25 ग्राम गाजर
  • 10 ग्राम प्याज
  • 100 ग्राम बंदगोभी
  •  


डार्क सर्कल से निजात दिलाएंगे ये घरेलू नुस्खे


डार्क सर्कल से निजात दिलाएंगे ये घरेलू नुस्खे



● डार्क सर्कल की समस्या से बचने के लिए घरेलू नुस्खों का कोई जवाब नहीं है। इसकी मदद से बिना किसी दुष्प्रभाव के आप डार्क सर्कल से छुटकारा पा सकते हैं।
1) डार्क सर्कल से कैसे बचें
आंखों के नीचे पड़ने वाले डार्क सर्कल आपकी खूबसूरती बिगाड़ सकते हैं। यह समस्या कई वजहों जैसे शरीर में पोषक तत्वों की कमी होना, नींद न आना, मानसिक तनाव या फिर बहुत ज्यादा देर तक कंप्यूटर पर काम करने के कारण भी हो सकती है। इन डार्क सर्कल की वजह से आपकी सुंदरता तो कम होती ही है साथ ही व्यक्ति थका हुआ और उम्रदराज भी नजर आता है। आइए जानें डार्क सर्कल को दूर करने के घरेलू नुस्खों के बारे में।

2) टमाटर
टमाटर के रस में, नींबू का रस,चुटकीभर बेसन और हल्‍दी मिला लें। इस पेस्‍ट को अपनी आंखों के चारों ओर लगाएं और 20 मिनट के बाद चेहरे को धो लें। ऐसा हफ्ते में 3 बार जरुर करें। इससे डार्क सर्कल धीरे-धीरे कम होने लगेगा।

जागने के तुरंत बाद क्यों पियें एलोवेरा जूस ! पढ़िए जरूर


जागने के तुरंत बाद क्यों पियें एलोवेरा जूस ! पढ़िए जरूर

जागने के तुरंत बाद क्यों पियें एलोवेरा जूस



















 ● कई सारी बीमारियां हमारे पेट से ही जन्‍म लेती हैं इसलिए पेट को दुरुस्‍त रखना बहुत जरूरी है, तो क्‍यों न इसकी शुरूआत सुबह होने के बाद करें और उठने के तुरंत बाद खाली पेट aloe vera juice पियें और स्‍वस्‍थ रहें।
1) सुबह खाली पेट alovera juice पीना है फायदेमंद :-
क्‍या आपको मालूम है कि अगर आप सुबह के समय उठते ही रोजाना खाली पेट aloe vera juice पीयेंगे तो आपकी 200 से अधिक बीमारियां दूर हो सकती हैं? कई सारी बीमारियां हमारे पेट से ही जन्‍म लेती हैं और अगर आप खाली पेट aloe vera juice पियेगें तो आप इस खतरे को काबू में करने का पहला कदम उठाएंगे। आइये जानते हैं कि सुबह खाली पेट aloe vera juice पीने से हमारे शरीर को कौन-कौन से लाभ पहुंचते हैं।
2) पेट साफ रहता है :-
जब आप पानी के साथ aloe vera juice पीते हैं तो आपको अपने आप ही टॉयलेट जाने की इच्‍छा होने लगती है। अगर ऐसा रोजाना करेगें तब आपके पेट का सिस्‍टम गंदगी को बाहर निकालने लगेगा और आपका पेट साफ हो जाएगा। जिन लोगों को कब्ज़ की शिकायत रहती है उनके लिए ये नुस्खा बेहद कारगर साबित होता है।

ऐसे आहार जिन्‍हें आपको रोज खाना चाहिये ! जरूर पढ़िए



ऐसे आहार जिन्‍हें आपको रोज खाना चाहिये ! जरूर पढ़िए

ऐसे आहार जिन्‍हें आपको रोज खाना चाहिये



आजकल की भाग दौड़ भरी वाली जिंदगी में जहां ना तो खाने का कोई समय है और ना ही सोने का। इसलिये अधिकतर लोग अपनी बीमारी का इलाज करवाने के लिये रोज डॉक्‍टरों की क्‍लीनिक के चक्‍कर काटते नजर आते रहते हैं।
● आहार अगर आप यह जान लें कि कौन से ऐसे आहार रोज खाने से आप फिट रह सकते हैं, तो आप कई सारी बीमारियों से बच सकते हैं। कहते हैं कि आप जैसा खाते हैं वैसे ही बन जाते हैं। इसलिये अपनी डाइट पर विशेष ध्‍यान दीजिये। आज हम आपको कुछ ऐसे आहारों के नाम बताएंगे जिन्‍हें रोजाना खाने से आप स्‍वस्‍थ्‍य तन और मन के मालिक बन सकते हैं।
1) ग्रीन टी :- 
इसके अंदर एंटीऑक्‍सीडेंट पाया जाता है जो वजन को कम करने के लिए एक जरुरी सामग्री है। यह शरीर के मेटाबॉलिज्‍म को बढा कर भूखं को कम करता है। अगर आप गीन टी पिएगीं तो यह आपके रक्‍त को अंदर से साफ करेगी जिससे आप पाएगीं बेदाग और निखरी त्‍वचा।

Wednesday, 29 June 2016

नमक के अधिक सेवन से होने वाली परेशानियां


नमक के अधिक सेवन से होने वाली परेशानियां





नमक हमारे शरीर के लिये आवश्यक तत्व है जो रक्तशोधक के रूप में काम करता है और शरीर के हानिकारक जीवाणुओं को नष्ट करके होने वाली बीमारियों से रक्षा करता है इसे नियंत्रित मात्रा में लिया जाये तो अच्छा है । हमारे शरीर के लिये नमक की मात्रा निर्धारित है अगर नमक की मात्रा उससे कम या ज्यादा हुई तो संतुलन बिगड़ जाता है और तरह तरह के रोग शरीर पर हावी होने लगते हैं। नमक के अधिक प्रयोग से उच्चरक्त चाप तथा त्वचा रोग की चपेट में आ सकते है


पोष्टिक भिंडी के बहुत से गुण। जरूर पढियेगा

पोष्टिक भिंडी के बहुत से गुण।


[ मित्रो इस पोस्ट को भी जरूर पढ़िए ]

जादुई गुणों से भरपूर आलू के छिलके।

ह्रदय लाभ हेतु शहद का सेवन अमृत। जरूर पढ़िए


ह्रदय लाभ हेतु शहद का सेवन अमृत।

[ मित्रो इस पोस्ट को भी जरूर पढ़िए ]

जादुई गुणों से भरपूर आलू के छिलके

जादुई गुणों से भरपूर आलू के छिलके। एक बार इस्तेमाल करके देखे


जादुई गुणों से भरपूर आलू के छिलके।


[ मित्रो इस पोस्ट को भी जरूर पढ़िए ]

आलू का इस प्रकार से प्रयोग करने पर शारीर की सूजन दूर हो जाती है।

आलू का इस प्रकार से प्रयोग करने पर शारीर की सूजन दूर हो जाती है। जरूर पढियेगा


आलू का इस प्रकार से प्रयोग करने पर शारीर की सूजन दूर हो जाती है। 


[ मित्रो इस पोस्ट को भी जरूर पढियेगा ]

स्वस्थ रहने के लिए इन नुस्खों को जरूर अपनाए

स्वस्थ रहने के लिए इन नुस्खों को जरूर अपनाए



स्वस्थ रहने के लिए इन नुस्खों को जरूर अपनाए


केरला परांठा बनाने की विधि

केरला परांठा


मैदे को गूंथ-गूंथ कर एकदम मुलायम करके केरला परांठे को बनाया जाता है. पारंपरिक तरीके से बनाने वाले तो इसे आधा घंटे तक भी गूंथते रहते हैं. इसकी परतें इकदम क्रिस्पी और पेस्ट्री की तरह रहती हैं. केरला परांठा उत्तर भारत में बनाए जाने वाले लच्छा परांठा जैसा ही होता है. इसकी बाहर की परतें क्रिस्पी और अन्दर की परतें एकदम नरम होती हैं.




ब्रोकन व्हीट उपमा बनाने की विधि

ब्रोकन व्हीट उपमा

 ब्रोकन व्हीट उपमा, जैसा इसका नाम है, यह एक गेहूं आधारित एक पौषण भरपुर व्यंजन है। जहाँ दलिया भरपुर मात्रा में रेशांक और ऊर्जा प्रदान करता है, गाजर और हरे मटर भरपुर मात्रा में आहार तत्व प्रदान करते हैं, खासतौर पर विटामीन ए। साथ ही सब्ज़ीया इस नरम उपमा को करारापन प्रदान करते हैं। इसे और भी रंग-बिरंगा और स्वादिष्ट बनाने के लिए, आप इसमें अपनी पसंद की अन्य सब्ज़ीयाँ भी मिला सकते हैं।


तैयारी का समय: 10 मिनट
पकाने का समय: 15 मिनट


टिन्डा मंगोडी़ करी बनाने की विधि

टिन्डा मंगोडी़ करी

 

 मूंग दाल की मंगोडी डालकर बनाई टिन्डे मंगोडी की सब्ज़ी बहुत स्वादिष्ट बनती है. राजस्थान में बहुत सारी सब्ज़ियों में मंगोडी का कोंबीनेशन दिया जाता है. आप भी मूंग दाल की मंगोडी डाल कर टिन्डा मंगोडी की सब्ज़ी बना कर देखें. ये सभी को पसंद आएगी.



बोम्बे-कराची हल्वा बनाने की विधि

बोम्बे-कराची हल्वा

 बोम्बे कराची हल्वा आपको खाने में बेहद पसंद आएगा. इसका स्वाद बाकी सारे तरह के हल्वे से अलग होता है. देशी घी और सूखे मेवों से भरा हुआ ये हल्वा दबाने में रबर जैसा लगता है इसलिए इसे रबर हल्वा भी कहते हैं. ये खास प्रकार का सिन्धी हल्वा देखने में चम्कीला और स्वाद में लज़ीज़ होता है. थोडा़ सा धैर्य रखकर इसे बनाएं और देखें कि ये बहुत अच्छा बनता है